राशिफल @ 22 अप्रैल: जानिए कैसा रहेगा सभी 12 राशियों के लिए दिनमान

मेष राशि

चुनौती भरा दिन है। काम का दबाव और छोटी-मोटी चुनौतियां रहेंगी। लेकिन, अपने कौशल से आज आप असंभव काम को भी पूरा कर सकेंगे। धन आएगा भी और उसका सदुपयोग भी होगा। सूर्य सहस्रनाम का पाठ करें। आज धर्म-कर्म के काम से और भजन सुनकर खुद को रिलैक्स कीजिए।

वृषभ राशि

साहस से जीत है। आज इस विश्वास पर चलेंगे तो सफलता मिलनी तय है। काम तो रहेगा पर खुश रहकर काम करेंगे तो दूसरे भी मददगार बनेंगे। जीवनसाथी के साथ बैठकर गप्पे मारेंगे। धन की सुरक्षा पर ध्यान दें। सूर्यदेव को तांबे के पात्र में जल लेकर सुबह ही अर्घ्य दें।

मिथुन राशि

सीधा सपाट जवाब देंगे। इससे आपकी सख्त और काम के प्रति जिम्मेदार व्यक्ति की छवि बनेगी। काम समय पर निपटाएं और दूसरे को हस्तक्षेप न करने दें। जीवनसाथी से विवाद न बढ़े इसलिए आज बातचीत न ही करें तो ठीक है। आदित्य हृदय स्त्रोत का पाठ नई ऊर्जा देगा।

कर्क राशि

खुश रहिए और खुश करिए। आपकी ऊर्जा और दिमागी तेजी से कोई एेसा काम हो सकेगा जिससे बॉस और पिता गर्व का अनुभव करेंगे। जीवनसाथी से खुलकर सीधी बात करेंगे तो प्रेम बढ़ जाएगा। धन पर्याप्त रहेगा। कहीं घूमने-फिरने जाएं और सूर्यदेव की प्रार्थना करें।

सिंह राशि

खुले दिमाग से सोचें। कार्यस्थल पर जो अवसर मिले अपना टैलेंट दिखाने का, उसका पूरा फायदा उठाएं। आज सफलता से संतुष्ट रहेंगे और जीवनसाथी से प्रेम का इजहार करेंगे। पैसे और सेहत के मामले में आप कुद को खुशनसीब समझेंगे। सूर्यदेव को अर्घ्य अवश्य दें।

कन्या राशि

अपना लक्ष्य खुद तय करें। आपमें साहस है कि आज काम का लक्ष्य हासिल भी कर लेंगे। सलाह है कि मशीनी जिंदगी से बाहर निकलकर भी देखें। रिश्तेदारों के वहां जाकर संंबंध बढ़ाएं। धनागमन ठीक चल रहा है। सूर्यदेव को दूध से बनी मिठाई का भोग लगाकर प्रसाद बांटें।

तुला राशि

थोड़ा रिलैक्स रहें। अनावश्यक तनाव ओढ़े रहेंगे तो न कोई काम होगा और न घर में शांति। कार्यस्थल के सहयोगी हों या जीवनसाथी, आज इनसे अपनी तरफ से गुस्से में बात करके पंगा न लें। अपने आराध्य देव की पूजा करें और उनका मंत्र मन ही मन जपते रहें।

वृश्चिक राशि

उत्साह की कमी नहीं रहेगी। काम कायदे से करें और आज अपनी तरफ से कोई बखेड़ा न खड़ा करें। इससे छवि प्रभावित होगी और कैरियर को नुकसान करेगी। फिटनेस ठीक है तो जीवनसाथी के साथ घूमने-फिरने भी निकलिए। आदित्य हृदयस्त्रोत का पाठ करिए।

धनु राशि

दृढ़ निश्चयी रहेंगे। इससे काम समय से पहले और उम्मीद से बेहतर करेंगे। आज आपके कार्य कौशल का दूसरों को उदाहरण दिया जाएगा। संभव है कि उन्नति का दरवाजा खुलता नजर आए। जीवनसाथी दोस्त की तरह मददगार बना हुआ है। गरीबों को भोजन कराएं और खुशियां जरूरतमंदों में बांटे।

मकर राशि

ईश्वर की कृपा आप पर बनी हुई है। काम में कोई गलती निकाले, उससे पहले आप दुरुस्त कर लें। नाते-रिश्तेदारों से संबंध सुधारने के लिए पहल आप करें तो बेहतर रहेगा। जरूरत है तो किसी पैसे की मदद लेने में हर्ज नहीं है। थोड़ा शांति से दिन गुजारें। अपने गुरु और आराध्य देव की शरण में जरूर जाएं।

कुंभ राशि

अनावश्यक चिंता न ओढ़ें। आज न कोई आपके खिलाफ है और न कोई काम आपके लिए असंभव है। जो है वो बस आपके दिमाग का फितूर है। अपनी क्षमता पहचानें और काम को करीने से करें। आज हनुमानजी की पूजा करें और बजरंगबाण का पाठ करें।

मीन राशि

जीवन में प्रैक्टिकल बनिए। काम ही सबकुछ नहीं होता, थोड़ा आराम भी करिए। आराम और घूमना-फिरना भी जरूरी है। आज तनाव रहित होकर परिवार के साथ घूमने-फिरने जाइए। जीवनसाथी के साथ साम बिताइए। ईगो को किनारे रखिए। आज कृष्ण-राधा की मूर्ति के दर्शन करिए।

Advertisements

चंद्र ग्रहण पर बन रहा काल सर्प योग, शिव आराधना से कम करें ग्रहण का नकारात्मक प्रभाव

साल का पहला ग्रहण 31 जनवरी को है। ये पूर्ण चंद्र ग्रहण यानी खग्रास चंद्र ग्रहण है। इस बार ग्रहण के समय लगभग सारे ग्रह राहु और केतु के घेरे में रहेंगे। ये स्थिति काल सर्प दोष का निर्माण भी करती है। माघ मास की पूर्णिमा यानी 31 जनवरी को शाम 5 बजकर 57 मिनट से चंद्र ग्रहण शुरू हो जाएगा। ये 2 घंटा 43 मिनट के कुछ बाद रात 8 बजकर 8 बजकर 41 मिनट पर खत्म होगा। इसका सूतक सुबह करीब 7 बजकर 05 मिनट पर शुरू होकर रात 8 बजकर 42 मिनट तक रहेगा। खग्रास चंद्रग्रहण शाम करीब 6 बजकर 22 मिनट से शुरू होगा और 7 बजकर 37 मिनट पर खत्म होगा।

चंद्र ग्रहण के दौरान ग्रहों की स्थिति और प्रभाव

चंद्र ग्रहण इस बार खुद चंद्रमा की राशि कर्क में पड़ रहा है। इस दौरान कर्क में चंद्रमा के साथ राहु भी रहेगा। राहु और केतु के घेरे में सारे ग्रह होंगे। ये स्थिति काल सर्प योग का निर्माण करती है। पुष्य और अनुराधा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए ये ग्रह स्थिति ठीक नहीं है। अष्लेशा और रेवती नक्षत्र में जन्म लेने वालों के साथ यही स्थिति रहेगी। आपको चंद्र ग्रहण के दौरान बहुत सावधानी बरतने की जरूरत रहेगी।

chandra grihan-1

 पिंड दान और तर्पण से कम होता है ग्रहण का असर 

चंद्र ग्रहण के दौरान ही काल सर्प योग का निर्माण हो रहा है। इसके दुष्प्रभाव से बचने के लिए महा मृत्युंजय वैदिक मंत्र का जप करें। मंत्र की 11 माला जपना कल्याणकारी रहेगा। इस दिन संपुटयुक्त महा मृत्‍युंजय मंत्र की एक माला जपना ठीक रहेगा। मंत्र है…ॐ हौं जूं सः ॐ भूर्भुवः स्वः ॐ त्र्यम्‍बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् उर्वारुकमिव बन्‍धनान् मृत्‍योर्मुक्षीय मामृतात् ॐ स्वः भुवः भूः ॐ सः जूं हौं ॐ …। चंद्रग्रहण के दौरान ‘ऊँ नम: शिवाय’ और ‘ऊं नमो भगवते वसुदेवाय’ मंत्र का जप भी लाभकारी रहेगा। पुरखों का तर्पण करने से भी तमाम नकारात्मक प्रभाव से मुक्ति मिल जाती है।

shivling-A

कुंभ राशि वाले चुनौतियों का सामना हौसले से करें तो अच्छे बीतेंगे दिन, हनुमानजी का स्मरण करें

कुंभ राशि के जातक जनवरी के तीसरे पखवाड़े में कुछ करेसान रह सकते हैं। खासकर सूर्य के उत्तरायण में अाने के बाद। इस समय चुनौती रहेगी अपना आत्मविश्वास बनाएं रखने की। धैर्य से परिस्थिति का सामना करेंगे तो विजयी होकर निकलेंगे। हनुमान जी का पूजन और हनुमान चालीसा का पाठ कल्याणकारी रहेगा।

 

काम जतन से ध्यान लगाकर करें

कुंभ राशि वाले आज कार्यस्थल पर समय पर जाएं और कोई भी काम करीने से पूरा करें। पत्नी को ऑफिस के हालात बता देंगे तो वह आपके साथ खड़ी होंगी। बाहर का कुछ न खाएं और पैसा की रक्षा करें।

हनुमानजी की पूजा करें, मंदिर जरूर जाएं 

कुंभ राशि के जातक हनुमानजी की पूजा जरूर कर लें। हनुमान चालीसा का पाठ मंदिर में जाकर कर लें। इससे आपको ताकत मिलेगी और कोई मददगार भी मिल जाएगा।